PM JI-VAN Yojana 2023 प्रधानमंत्री जी-वन योजना आवेदन ऑनलाइन

Pradhan Mantri JI-VAN Yojana 2023 पीएम जी-वन योजना आवेदन PM JI-VAN Yojana Registration | JI VAN yojana full form – govt bio-ethanol projects Scheme, PM Ji-Van Yojana launch date & Official Website

Pradhan Mantri JI-VAN Yojana 2023: हमारे भारत देश के माननीय प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी के प्रयासों और आर्थिक मामलों का समर्थन करने वाली कैबिनेट समिति ने देश में जैव ईंधन को बढ़ावा देने के लिए प्रधान मंत्री जी-वन योजना 2023 की शुरुआत की है। इसका उद्देश्य कच्चे तेल के आयात पर देश की निर्भरता को कम करना है और सरकार का लक्ष्य 2023 के अंत तक देश में एथनॉल का उपयोग 10% तक करना है। केंद्र सरकार द्वारा साल के अंत तक पेट्रोलियम ईंधनों में 10% तक ऐथोनॉल का मिश्रण करना व 2030 तक पेट्रोल में 20% एथनॉल का उपयोग का लक्ष्य रखा है।

Pradhan Mantri JI-VAN Yojana 2023

आर्थिक मामलों की कैबिनेट समिति (CCEA) ने प्रधान मंत्री JI-VAN (वातावरण अनुकूल फसल अवशेष निवारण) योजना को मंजूरी दे दी है। PM JI-VAN योजना लिग्नोसेलुलोसिक बायोमास और अन्य नवीकरणीय फीडस्टॉक के उपयोग द्वारा एकीकृत जैव इथेनॉल परियोजनाओं को वित्तीय सहायता प्रदान करने जा रही है। JI-VAN योजना का वित्तीय निहितार्थ यह है कि केंद्रीय सरकार 2018 से 2023-24 की अवधि के लिए 1969.50 करोड़ रुपये के कुल वित्तीय परिव्यय के साथ इस योजना का समर्थन करेगी।

पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय ने वित्त वर्ष 2022 तक पेट्रोल में इथेनॉल का 10% सम्मिश्रण प्राप्त करने का लक्ष्य रखा है।

PM JI-VAN Yojana

PM JI-VAN Scheme Highlights

योजना का नाम प्रधान मंत्री जी-वन योजना 2023
किसने लॉन्च की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
Launch dateFebruary 2019
द्वारा प्रायोजितकेंद्र सरकार
लाभार्थी देश के सभी लोग
उद्देश्य एथेनॉल ब्लेंडिंग को बढ़ाना
आधिकारिक वेबसाईट mopng.gov.in
योजना का साल 2023
विभागपेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय

प्रधानमंत्री जी-वन योजना के लाभ

प्रधानमंत्री JI-VAN योजना के निम्नलिखित लाभ होंगे:-

  • केंद्रीय सरकार के दृष्टिकोण को पूरा करने के लिए। जैव ईंधन के साथ जीवाश्म ईंधन को प्रतिस्थापित करके आयात निर्भरता को कम करने के लिए।
  • जीवाश्म ईंधन के प्रगतिशील सम्मिश्रण / प्रतिस्थापन द्वारा जीएचजी उत्सर्जन में कमी के लक्ष्यों को प्राप्त करना।
  • पर्यावरण संबंधी चिंताओं को दूर करने के लिए जो कि बायोमास के जलने, फसल के अवशेष और नागरिकों के स्वास्थ्य में सुधार के कारण होती हैं।
  • अपने अपशिष्ट कृषि अवशेषों के लिए पर्याप्त आय सुनिश्चित करके किसान की आय बढ़ाने के लिए।
  • बायोमास आपूर्ति श्रृंखला के साथ 2G इथेनॉल परियोजनाओं में ग्रामीण और शहरी रोजगार के अवसरों का निर्माण।
  • बायोमास और शहरी कचरे जैसे गैर-खाद्य जैव ईंधन फीडस्टॉक्स के एकत्रीकरण का समर्थन करके स्वच्छ भारत मिशन में योगदान दें।
  • इथेनॉल प्रौद्योगिकियों के लिए दूसरी पीढ़ी के बायोमास का स्वदेशीकरण।

PM Swamitva Yojana Apply Online 2022 स्वामित्व योजना आवेदन

PM JI-VAN Yojana क्यों जरूरी है

सेंट्रल गवर्नमेंट ने 2022 तक इथेनॉल के 10% सम्मिश्रण प्रतिशत को प्राप्त करने का लक्ष्य रखा है। उच्च इथेनॉल की कीमतों, इथेनॉल खरीद प्रणाली के सरलीकरण जैसे विभिन्न प्रयास किए गए हैं। लेकिन अब भी 2017-18 के दौरान इथेनॉल की खरीद लगभग 150 करोड़ लीटर इथेनॉल की है। यह पैन इंडिया के आधार पर लगभग 4.22% सम्मिश्रण के लिए पर्याप्त है। वैकल्पिक रूप से, MoP, NG ने EBP प्रोग्राम के तहत आपूर्ति अंतर को घटाने के लिए बायोमास और अन्य कचरे से 2G इथेनॉल पीढ़ी की खोज शुरू कर दी है। इसलिए, भारत में 2G इथेनॉल क्षमता बनाने और इस नए क्षेत्र के लिए निवेश आकर्षित करने के लिए प्रधानमंत्री जैव ईंधन योजना शुरू की गई है।

Center for High Technology जो MoP & NG के अंतर्गत एक तकनीकी संस्था है, प्रधानमंत्री जैव ईंधन योजना 2019 की प्राथमिक कार्यान्वयन एजेंसी होगी। सभी परियोजना developer जो योजना लाभ लेने के लिए इच्छुक हैं, उन्हें वैज्ञानिक सलाहकार समिति द्वारा समीक्षा के लिए अपना प्रस्ताव प्रस्तुत करना होगा। SAC द्वारा अनुशंसित सभी परियोजनाओं को संचालन समिति द्वारा अनुमोदित किया जाना है।

प्रधानमंत्री JI-VAN योजना के चरण (Phases)

  • चरण- 1 (2018-19 से 2022-23) – यहां 6 वाणिज्यिक परियोजनाएं और 5 प्रदर्शन परियोजनाओं का समायोजन किया जाएगा।
  • चरण- 2 (2020-21 से 2023-24) – यहां शेष 6 वाणिज्यिक परियोजनाएं और 5 प्रदर्शन परियोजनाओं का समायोजन किया जाएगा।

प्रधान मंत्री जी-वन योजना 2G इथेनॉल क्षेत्र को प्रोत्साहित करने पर ध्यान केंद्रित करेगी और वाणिज्यिक परियोजनाओं को स्थापित करने के लिए उपयुक्त पारिस्थितिकी तंत्र बनाकर इस क्षेत्र को बढ़ाने के लिए इस उद्योग का समर्थन करेगी।

PM JI-VAN Scheme Registration 2023

  • सबसे पहले आपको योजना से संबंधित विभाग की आधिकारिक वेबसाईट पर जाएं
  • इसके बाद Scheme सेक्शन पर क्लिक करें
  • अब आपके सामने बहुत सारी योजना आजाएगी
  • यहाँ पर आपको PM JI-VAN पर क्लिक करना है
  • अब आपके सामने योजना की जानकारी आजाएगी
  • इसके बाद आपको आवेदान करने के लिए योजना के फॉर्म को खोल लेना है ओर आवेदन मैं मांगी गई सभी डिटेल्स को भरना
  • अंत मैं आपको भरे हुए आवेदन को एक वर फिर से चेक करना है ओर अंत मैं आप संबंधित विभाग को फॉर्म जमा कर सकते हैं

JI-VAN Scheme FAQs

PM JI-Van Yojana का full form क्या है?

केंद्र सरकार की JI-Van का फुल फॉर्म है: Jaiv Indhan- Vatavaran Anukool fasal awashesh Nivaran

पीएम जी-वन योजना का उद्देश्य क्या है?

सरकार की इस योजना का मुख्य उद्देश्य पेट्रोलियम प्रोडक्ट में एथनॉल की मात्रा को बढ़ाना है दुनिया भर में बढ़ते कच्चे तेल के दामों के कारण सरकार एथनॉल के उपयोग के बढ़ा कर कच्चे तेल पर निर्भरता कम करना चाहती है।

Pradhan Mantri JI-VAN Yojana को किसने शुरू किया है?

इस योजना के केंद्र सरकार के द्वारा शुरू किया गया है ओर पीएम मोदी जी के द्वारा इसे लॉन्च किया गया था।

PM ji-van scheme को किस विभाग द्वारा लागू किया जा रहा है?

इस योजना को भारत सरकार के पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय विभाग के द्वारा लागू किया जा रहा है।

Follow Us On Social Media 🙏 🔔

Google News Follow
Twitter Follow
Facebook Follow
Koo AppFollow
InstagramFollow
TelegramFollow

Leave a Comment

Top 5 lyricists of Bollywood Top 5 Romantic Songs Hindi in 2022 Top 5 songs in Hindi 2022 Places To Visit In India Before You Turn 30 in 2022 Top 5 Best Hollywood movie series