Sahbhagita Yojana बेसहारा गोवंश सहभागिता योजना 2023

UP Sahbhagita Yojana Rs 900 month 2023 | यूपी बेसहारा गाय सहभागिता योजना आवेदन ऑनलाइन | mukhyamantri besahara gauvansh sahbhagita yojana | Cooperative Scheme For Stray Cattle | CM Yogi Yojana

उत्तर प्रदेश सरकार की UP Sahbhagita Yojana 2022 (CM Destitute Cow Participation Scheme) के तहत यूपी के लोगों को मिलेगें Rs 900 / month आवारा पशुओं को गोद लेने और उन्हें घर ले जाने पर (adopting stray cattle & taking them home) पूरी जानकारी check करें उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री निराश्रित गाय सहभागिता योजना 2022-23 के आवेदन / Registration Online आदि की पूरी जानकारी यहां देखें हिंदी में status and online apply akrne ki poori process check karen ओर ऑनलाइन प्रोसेस देखें.

उत्तर प्रदेश राज्य सरकार द्वारा शुरू की गई इस mukhyamantri besahara gauvansh sahbhagita yojana में निराश्रित, बेसहारा गोवंश का पालन करने वाले किसानों को 30 रुपये प्रतिदिन प्रति पशु के हिसाब से प्रदान किए जाएंगे ताकि वह इन बेसहारा पशुओं की देखभाल करें, मुख्यमंत्री बेसहारा गोवंश सहभागिता योजना मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी द्वारा राज्य में घूम रहे बेसहारा और निराश्रित पशुओं के लिए शुरू की गई है ताकि लोग है इन पशुओं को अपने घर में ले जाकर इनकी देखभाल करें. गोवंश सहभागिता योजना के तहत प्रत्येक ऐसे ear-tagged जानवर को गोद लिया जाता है जिसे यूपी मुख्यमंत्री निराश्रित गौ भागीदारी योजना के तहत पहचान के उद्देश्य से रखा जाता है। इससे पहले 2019 में, यूपी में किसानों ने आवारा पशुओं को उनके खेतों को नष्ट करने का विरोध किया था। इसीलिए सरकार ने अब यह योजना लागू की है

Besahara gauvansh Sahbhagita Yojana 2022

Sahbhagita Yojana 2022
Sahbhagita Yojana UP 2022

गोपाष्टमी के अवसर पर, 22 नवंबर 2020 को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सहभागिता योजना के तहत 11 परिवारों में गायों को कुपोषित बच्चों के परिवारों को सौंप दिया था। इस सह-सहभागिता योजना में, सरकार गायों की देखभाल करने वाले लोगों को हर महीने 900 रुपये देती है। आधिकारिक बयान के अनुसार, यह गायों को संरक्षित करने के साथ-साथ अल्पपोषित बच्चों को पोषण प्रदान करने के दोहरे उद्देश्य को पूरा करता है। उत्तर प्रदेश सरकार यूपी सहजयोग योजना 2023 या मुख्यमंत्री निराश्रित गाय सहभागिता योजना शुरू की है। यूपी सरकार की इस योजना के तहत 1 आवारा मवेशी अपनाने वाले प्रत्येक व्यक्ति को हर महीने 900 रुपये मिलेंगे।

ऐसा इसलिए किया जा रहा है क्योंकि मौजूदा गाय आश्रय जानवरों के लिए कम पढ़ रहे हैं। योगी आदित्यनाथ ने सार्वजनिक गोद लेने के लिए 1 लाख गायों को रखने का फैसला किया। राज्य सरकार गाय लेने वाले इच्छुक व्यक्तियों के बैंक खाते में प्रति माह 900 रुपये स्थानांतरित करेगी। प्रत्येक जिले में नए गाय आश्रयों को खोलने के लिए यूपी सरकार को स्कूलों और कार्यालयों का नेतृत्व किया गया। यूपी सरकार प्रत्येक मवेशी को गाय आश्रय के लिए 30 रुपये प्रतिदिन का भुगतान कर रही है।

Sahbhagita Yojana Highlights

योजना का नाम मुख्यमंत्री बेसहारा गोवंश सहभागिता योजना 2022
किसने शुरू की सीएम योगी आदित्यनाथ
राज्य का नाम उत्तर प्रदेश
योजना का प्रकार राज्य स्तरीय
लाभार्थी किसान
उद्देश्य जानवर को गोद लेना
आवेदन मोड Online / Offline
पंजीयन का साल 2022
चेक योजना स्टेटस Click Here
Guidelines Click Here

How to apply for Sahbhagita Yojana (आवेदन / Registration)

अगर आप मुख्यमंत्री गोवंश सहभागिता योजना में ऑनलाइन आवेदन करने की सोच रहे हैं तो यह फिलहाल मुमकिन नहीं है क्योंकि योजना में आवेदन करने के लिए कोई भी ऑनलाइन प्रक्रिया उपलब्ध नहीं है

प्रत्येक जिले के जिलाधिकारी और मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी को इस योजना के तहत जिम्मेदारी दी गई है कि जिलों में ऐसे इच्छुक किसानों, पशुपालकों और स्वयंसेवकों का चुनाव करें जो निराश्रित गोवंश पालने को तैयार हैं। इसलिए आप ऑफलाइन ही, mukhyamantri besahara gauvansh sahbhagita yojana से संबंधित अधिकारियों से संपर्क करके इस योजना का लाभ उठा सकते हैं और गायों की सेवा कर सकते हैं

मुख्यमंत्री बेसहारा गोवंश सहभागिता योजना पात्रता

  • योजना का पात्र केवल वह व्यक्ति होगा जो UP राज्य का मूल निवासी हो और वर्तमान में अपने मूल निवास में रह रहा हो
  • व्यक्ति को गोवंश के पालन पोषण का अनुभव हो तथा उसके पास पशु रखने का पर्याप्त स्थान हो
  • एक व्यक्ति को केवल 4 गोवंश ही दिए जाएंगे जिसमें नहीं जन्मे बछड़े की गणना नहीं की जाएगी अर्थात गाय और उसकी दूध पीती बछिया को एक ही माना जाएगा
  • योजना के लाभार्थी एवं आवेदक के पास बैंक खाता होना चाहिए और उसका आधार कार्ड बैंक खाते से लिंक होना चाहिए
  • mukhyamantri besahara gauvansh sahbhagita yojana 2023 के तहत दुग्ध समितियों से जुड़े व्यक्तियों को प्राथमिकता दी जाएगी
  • इच्छुक व्यक्ति चयन हेतु निर्धारित प्रारूप पर अपने पहचान पत्र (आधार कार्ड/ वोटर कार्ड/ राशन कार्ड) तथा बैंक पासबुक की फोटोकॉपी के साथ आवेदन करेगा
  • उत्तर प्रदेश सहभागिता योजना में आवेदन करने के लिए इच्छुक व्यक्ति अपने ब्लॉक के खंड विकास अधिकारी एवं पशु चिकित्सा अधिकारी से संपर्क कर सकते हैं
mukhyamantri besahara gauvansh sahbhagita yojana

सहभागिता योजना के लिए दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • निवास प्रमाण
  • वोटर आइडी
  • मोबाईल नंबर
  • इमैल आइडी
  • पासपोर्ट साइज़ फोटो

UP Sahbhagita Yojana Implementation

योजना के तहत कुल 66,257 गाय दी गई हैं, जिनमें से 1071 गायों को कुपोषित बच्चों के 1069 परिवारों में वितरित किया गया है। मिर्जापुर के टांडा फॉल में एक गाय आश्रय में एक कार्यक्रम के दौरान, सीएम आदित्यनाथ ने कहा कि “यह योजना समाज के साथ-साथ देश के भविष्य को उज्ज्वल करने की प्रक्रिया का एक हिस्सा थी।

हमने एक व्यवस्था की है कि सभी बेसहारा गायों को गाय आश्रय में लाया जाएगा और अगर कोई किसान गाय रखने के लिए तैयार है, तो उसे रखरखाव शुल्क के रूप में 900 रुपये प्रति माह दिए जाएंगे। हर महीने इस प्रणाली की समीक्षा भी की जाएगी”।

UP Sahbhagita Scheme 2022 Benefits

  • जिला अधिकारी जनपद के ऐसे इच्छुक किसानों / पशुपालकों एवं अन्य व्यक्तियों को चिन्हित कराएंगे जो निराश्रित गोवंश को पालने के लिए तैयार हैं
  • इन सभी इच्छुक व्यक्तियों को जिलाधिकारी द्वारा ₹30 प्रति गोवंश / प्रतिदिन की दर से भरण पोषण हेतु धनराशि संबंधित व्यक्ति पशुपालक के बैंक खाते में प्रतिमाह DBT प्रक्रिया द्वारा हस्तांतरित की जाएगी
  • बेसहारा गोवंश (जिनके कान में टैग मौजूद है) पशुपालकों को जिला प्रशासन द्वारा स्थापित एवं संचालित स्थाई/अस्थाई गोवंश संरक्षण केंद्रों के माध्यम से सुपुर्द किया जाएगा
  • चुने गए पशु पालक एवं किसानों के सुपुर्द किए गए गोवंश को किसी भी दशा में विक्रय नहीं किया जाएगा और ना ही उन्हें खुला छोड़ा जाना चाहिए

Follow Us On Social Media 🙏 🔔

Google News Follow
Twitter Follow
Facebook Follow
Koo AppFollow
InstagramFollow
TelegramFollow

5 thoughts on “Sahbhagita Yojana बेसहारा गोवंश सहभागिता योजना 2023”

  1. जिनका रोजगार चला गया उनके पास कोई काम नही है बच्चे की फीस भी नही जमा हो पा रही है।।
    उनके बारे मे कुछ नही।।।।

    Reply
  2. Mairai yaha ye ho rha hai ki jisakai paas gaay hai use kuchh nahi milata jisakai paas gaay nahi hai use 900per month diyai ja rahai hai adders .samthar thakaha etawah Mai

    Reply
  3. मैने जनवरी 2020 मैं दो गाय एक गौशाला से ली थीं ।अभी तक एक रूपया नही मिला है मुझे सब सरकारी नौटंकी दिखती है ।

    Reply

Leave a Comment

Top 5 lyricists of Bollywood Top 5 Romantic Songs Hindi in 2022 Top 5 songs in Hindi 2022 Places To Visit In India Before You Turn 30 in 2022 Top 5 Best Hollywood movie series