Vaya Vandana Yojana | PMVVY | Benefits | Eligibility | Online Apply In Hindi

भारत सरकार ने पेंशन योजना – Vaya Vandana Yojana शुरू की थी जिसकी अंतिम तारीख आने वाली है, Yojana को 4 मई 2017 से 31 मार्च 2020 तक लिया जा सकता है। अभी तक अगर आप योजना के भागीदार नहीं है तो अभी इस योजना में अप्लाई कर दें

आप सभी को बता दें 2018-19 के बजट भाषण में, भारत सरकार ने PM Vaya Vandana Yojana के तहत अधिकतम सीमा बढ़ाकर 15 लाख रुपये कर दी थी।lic

इस योजना को भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) से Online या Offline मोड में Apply किया जा सकता है। योजना का मुख्य उद्देश्य वरिष्ठ नागरिकों को उस समय नियमित पेंशन प्रदान करना है, जब ब्याज दरों में गिरावट होती है।

 Vaya Vandana Yojana Kya Hai ?

Pradhan Mantri Vaya Vandana Yojana सरकार की एक पेंशन योजना है जिसे सरकार ने 2018-19 के Budget Speech मैं लांच किया था योजना के तहत आवेदन कर्ता को एक LIC पॉलिसी खरीदनी होगी यह एक तरह की बीमा पॉलिसी होगी इस बीमा पॉलिसी की राशि बढ़ाकर 15 लाख रुपये कर गई है जिसके माध्यम से लोगों को पेंशन दी जाएगी और इसके कई अन्य लाभ भी हैं पॉलिसी की शर्तें अमाउंट सब कुछ नीचे दिया गया है

LIC Vaya Vandana Yojana के लाभ

सरकार की इस योजना के कई लाभ हैं जिनका फायदा इस योजना में आवेदन करके उठाया जा सकता है प्रधानमंत्री वय वंदना योजना (PMVVY) के तहत प्रमुख लाभ निम्न प्रकार से हैं:

  • स्कीम 8% का सुनिश्चित प्रतिफल प्रदान करती है (equivalent to 8.30% p.a. effective) 10 वर्षों के लिए देय मासिक
  • प्रत्येक अवधि के अंत में, पेंशन की अवधि 10 वर्ष की Policy अवधि के दौरान, monthly/ quarterly/ half-yearly/ yearly की आवृत्ति के अनुसार खरीद के समय पेंशनर द्वारा चुनी जा सकती है।
  • 10 वर्ष की Policy अवधि के अंत तक पेंशनर के जीवित रहने पर, अंतिम पेंशन किस्त के साथ Purchase price भी दिया जाएगा।
  • यह योजना स्वयं या पति या पत्नी के किसी भी critical/ terminal बीमारी के इलाज के लिए समय से पहले निकलने की अनुमति देती है। इस तरह के समय से पहले निकलने पर, Purchase price का 98% वापस किया जाएगा।
  • 10 वर्ष की पॉलिसी अवधि के दौरान पेंशनर की मृत्यु होने पर, लाभार्थी को Purchase Price का भुगतान किया जाएगा।

Pension Payment: 10 वर्ष की पॉलिसी अवधि के दौरान पेंशनर के जीवित रहने पर, बकाया राशि में पेंशन (चुने हुए मोड के अनुसार प्रत्येक अवधि के अंत में) देय होगी।

Death Benefit: 10 वर्ष की पॉलिसी अवधि के दौरान पेंशनर की मृत्यु पर, लाभार्थी को खरीद मूल्य वापस कर दिया जाएगा।

Maturity Benefit: 10 वर्ष की पॉलिसी अवधि के अंत तक पेंशनर के जीवित रहने पर, अंतिम पेंशन किस्त के साथ खरीद मूल्य देय होगा।

Pradhan Mantri Vaya Vandana Yojana Online Apply

अगर कोई व्यक्ति इस योजना में ऑनलाइन आवेदन करना चाहता है तो वह केवल भारतीय जीवन बीमा निगम की ऑफिशियल वेबसाइट से ही कर सकता है कहीं और से इस योजना में आवेदन नहीं किया जा सकता और ऑफलाइन आवेदन करने के लिए आपको अपने नजदीकी LIC Branch से संपर्क करना होगा

LIC Pradhan Mantri Vaya Vandana Yojana ऑनलाइन आवेदन करने के लिए नीचे दिए गए सभी चरणों का पालन करें:

  • आवेदन करने के लिए सबसे पहले https://licindia.in/ वेबसाइट पर जाएं
  • अब वेबसाइट के ONLINE SERVICES सेक्शन के तहत “Customer Portal” लिंक पर क्लिक करें

lic vaya vandana yojana

  • वेबसाइट के राइट साइडबार में उपलब्ध LIC Online Service Portal सेक्शन के तहत Apply Now लिंक पर क्लिक करें

pradhan mantri vaya vandana yojana proposal form

  • अब आपके सामने Apply Now का फॉर्म खुल जाएगा जिसमें मांगी गई सभी जानकारियों को भर दें जैसे कि आपका नाम, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी, जन्मतिथि, पता आदि

Vaya Vandana Yojana | PMVVY | Benefits | Eligibility | Online Apply In Hindi

  • Form को भर देने के बाद टर्म एंड कंडीशन के बॉक्स में चेक मार्क लगाकर सबमिट बटन पर क्लिक करें

पात्रता की शर्तें और Other Restrictions

Minimum Entry Age60 years (completed)
Maximum Entry AgeNo limit
Policy Term10 years
Minimum PensionRs. 1,000/- per month
Rs. 3,000/- per quarter
Rs. 6,000/- per half-year
Rs. 12,000/- per year
Maximum PensionRs. 10,000/-per month
Rs. 30,000/-per quarter
Rs. 60,000/- per half-year
Rs. 1,20,000/- per year

अधिकतम पेंशन की सीमा प्रति वरिष्ठ नागरिक यानी इस योजना के तहत सभी नीतियों के तहत पेंशन की कुल राशि है, जिसमें UIN 512G311V01 के साथ प्रधानमंत्री वय वंदना योजना के तहत ली गई नीतियां शामिल हैं, एक वरिष्ठ नागरिक को दी जाने वाली अधिकतम पेंशन सीमा से अधिक नहीं होगी।

इस योजना को भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) के माध्यम से ऑफलाइन के साथ-साथ ऑनलाइन भी खरीदा जा सकता है, पॉलिसी को और कहीं से भी नहीं खरीदा जा सकता ऑनलाइन खरीदने के लिए, http://www.licindia.in/ पर जाएं

Purchase Price का भुगतान

योजना एकमुश्त खरीद मूल्य के भुगतान से खरीदी जा सकती है। पेंशनभोगी के पास पेंशन की राशि या खरीद मूल्य चुनने का विकल्प होता है।

पेंशन के विभिन्न तरीकों के तहत न्यूनतम और अधिकतम खरीद मूल्य निम्नानुसार होगा:

Mode of PensionMinimum Purchase Price Maximum Purchase Price
Yearly1,44,57814,45,783
Half-yearly1,47,60114,76,015
Quarterly1,49,06814,90,683
Monthly1,50,00015,00,000

पेंशन भुगतान का तरीका

पेंशन भुगतान के तरीके मासिक, त्रैमासिक, अर्धवार्षिक और वार्षिक हैं। पेंशन भुगतान एनईएफटी या आधार सक्षम भुगतान प्रणाली के माध्यम से होगा।

Vaya Vandana Yojana पेंशन की पहली किस्त का भुगतान 1 वर्ष, 6 महीने, 3 महीने या 1 महीने के बाद किया जाएगा, जो कि पेंशन भुगतान के तरीके के आधार पर होगा अर्थात् वार्षिक, छमाही, त्रैमासिक या मासिक।

Vaya Vandana Yojana Loan

ऋण की सुविधा 3 पॉलिसी वर्षों के पूरा होने के बाद उपलब्ध है। जो अधिकतम ऋण दिया जा सकता है, वह खरीद मूल्य का 75% होगा।

ऋण राशि के लिए ब्याज की दर आवधिक अंतराल पर निर्धारित की जाएगी। वित्तीय वर्ष 2016-17 में स्वीकृत ऋण के लिए, लागू ब्याज दर 10% पी.ए. ऋण की पूरी अवधि के लिए अर्ध-वार्षिक देय।

पॉलिसी के तहत देय पेंशन राशि से ऋण ब्याज की वसूली की जाएगी। ऋण ब्याज पॉलिसी के तहत पेंशन भुगतान की आवृत्ति के अनुसार प्राप्त होगा और यह पेंशन की नियत तारीख पर होगा। हालांकि, बाहर निकलने के समय दावे की आय से ऋण बकाया वसूल किया जाएगा।

सैंपल पेंशन दरें 1000 रुपये प्रति खरीद मूल्य

पेंशन भुगतान के विभिन्न तरीकों के लिए रु .1000 खरीद मूल्य के लिए पेंशन दरें निम्नानुसार हैं:

YearlyRs. 83.00 p.a.
Half-yearlyRs. 81.30 p.a.
QuarterlyRs. 80.50 p.a.
MonthlyRs. 80.00 p.a.

Frauds under Pradhan Mantri Vaya Vandana Yojana

LIC 3 वर्ष के भीतर पॉलिसी से संबंधित किसी भी धोखाधड़ी के मामले में बीमित व्यक्ति को सूचित कर सकती है:

  • पॉलिसी issued होने की तारीख।
  • जोखिमों के शुरू होने की तारीख।
  • वह तिथि जब पॉलिसी को revived किया गया था।
  • वह तिथि जब राइडर को पॉलिसी में जोड़ा गया था, जो भी बाद में हो।

बीमाकर्ता को बीमाधारक या उसके / उसके कानूनी प्रतिनिधि को भी प्रदान करना होगा, या इस तरह की कार्रवाई क्यों की गई थी, इस विवरण के साथ नामांकित व्यक्ति और ये विवरण लिखित रूप में दिए जाने चाहिए। ऐसी परिस्थितियों में धोखाधड़ी का मतलब एक ऐसा कार्य है जो बीमाकर्ता या उसके एजेंट द्वारा बीमाकर्ता को धोखा देने के उद्देश्य से किया जाता है।

Leave a Comment