|सूची| प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण PMAYG New List 2021

Pradhan Mantri Awas Yojana Gramin | प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण सूची ऑनलाइन चेक 2021 | pmayg nic in 2021 List | PMAYG List Download | PM Awas Yojana Gramin registration / online apply |

केंद्र सरकार की Pradhan Mantri Awas Yojana Gramin (pmayg): pmayg nic in 2021 new list, pmay g list | pmayg list आवास योजना लिस्ट चेक करें Online pmayg report यहाँ से देखें pmayg dot nic dot in से pmayg Online apply करें ओर साथ ही PM Awas Yojana Gramin List. नमस्कार दोस्तों आज हम यहां PMAYG Scheme पर बात करने वाले हैं Pradhan Mantri Awas Yojana – Gramin के बारे में कि आखिर यह pmay g क्या है? और साथ ही हम जानेंगे pmayg nic in के क्या लाभ हैं? दोस्तों सरकार की इस योजना के ऑफिशियल pmayg nic in पोर्टल का उपयोग कैसे करना है इसके बारे में भी हम यहां पर सीखेंगे.

PMAYG NIC New List 2021

Pradhan Mantri Awas Yojana Gramin

वैसे तो यह Pradhan Mantri Awas Yojana – Gramin मोदी जी के सत्ता में आने से 2016 से ही अत्यधिक चर्चा में रही है पर फिर भी सरकार द्वारा चलाई जा रही PMAYG जैसी सभी योजनाओं के बारे में बहुत ही कम लोगों को पूरी जानकारी रहती है पर बहुत से ऐसे व्यक्ति हैं जिन्हें इस योजना के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं रहती क्योंकि ज्यादातर इंटरनेट पर इन योजनाओं को अंग्रेजी भाषा में प्रकाशित किया जाता है.

जिससे हमारे बहुत सारे भारतीय नागरिक जिन्हें अंग्रेजी भाषा का कुछ ज्यादा ज्ञान नहीं है वह सभी व्यक्ति ऐसी योजनाओं से अपरिचित रह जाते हैं तो दोस्तों यहां पर हम हिंदी भाषा में PMAYG योजना के बारे में विस्तार से चर्चा करेंगे PMAYG योजना का शुरू से लेकर अंत तक मुआयना करेंगे तो चलिए ज्यादा समय को ना बर्बाद करते हुए इस योजना के बारे में विस्तार से समझते हैं

New Update January 20: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को उत्तर प्रदेश में 6.1 लाख लाभार्थियों को लगभग 2,691 करोड़ रुपये की वित्तीय सहायता जारी की। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रधानमंत्री आवास योजना – ग्रामीण (पीएमएवाई-जी) के तहत सहायता प्रदान की गई। केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

PMAYG Highlights

योजना का नामPradhan Mantri Awas Yojana Gramin 2021
Short FormPMAYG
शुभारंभ का वर्ष 2015-16
Launched byप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
Scheme CategoryCentral Govt
योजना क्षेत्रग्रामीण
Yojana MinistryMinistry of Rural Development
आधिकारिक वेबसाईटpmayg.nic.in
Application ModeOnline / Offline
BeneficiaryIndian Rural Citizen

PM Awas Yojana Gramin New List 2021

तो दोस्तों योजना को पूर्ण रूप से समझने के बाद अब हम यहां पर जानेंगे कि योजना के लाभार्थियों की सूची (PMAY List) हम किस तरह से देख सकते हैं. यहां पर हम जानेंगे कि सरकार का कौन सा ऑफिशल वेब पोर्टल है जिसके माध्यम से हम लाभार्थी सूची देख पाएंगे तो चलिए विस्तार से हम आपको इसके बारे में बताते हैं pmayg nic in 2020 21 new list को चेक करने के लिए नीचे दी गई विधि को आप स्टेप बाय स्टेप फॉलो करें : –

Step 1. सबसे पहले आप को Pradhan Mantri Awas Yojana की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा PMAYG की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें https://pmayg.nic.in/netiay/home.aspx

pmayg

Step 2. अब आपको वेबसाइट के नेविगेशन मेनू में Awaassoft का एक ड्रॉपडाउन बटन दिखाई देगा जिस पर क्लिक करने के बाद आपको एक रिपोर्ट का बटन दिखाई देगा जिस पर आपको क्लिक कर देना

PM Awas Yojana Gramin List

Step 3. अब आपको बहुत सारी कैटेगरी दिखाई देंगी जिनमें से आपको E. SECC Reports कैटेगरी के तहत चौथे नंबर की Category-wise SECC data Verification Summary लिंक पर क्लिक कर देना है

pmayg nic in 2020 new list

Step 4. अब आपके सामने सभी राज्यों की लिस्ट आ जाएगी अब आप वेबसाइट पर उपलब्ध Selection Filters के माध्यम से अपने राज्य और जिले इसके बाद अपनी ग्राम पंचायत को चुनकर PMAYG लिस्ट को चेक कर सकते हैं

pmayg PM Awaas Yojana

इस नई लिस्ट में वह सभी आवास शामिल किए गए हैं जो अप्रूव हो चुके हैं और जो रिजेक्ट हो चुके हैं और साथ ही जिन आवासों का काम पूरा हो चुका है सभी की सूची आप Selection Filters के माध्यम से अपने गांव को चुनकर चेक कर सकते हैं

Check Name in PMAYG List With Registration Number / Without Registration No

प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के सभी लाभार्थी pmayg list मैं अपना नाम अपने पंजीकरण नंबर के माध्यम से चेक कर सकते हैं:

  • PMAYG registration number की सहायता से सूची में अपना नाम देखने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर जाएं https://rhreporting.nic.in/netiay/Benificiary.aspx
  • जैसे ही आप ऊपर दिए गए लिंक पर क्लिक करते हैं तो आपके सामने पंजीकरण नंबर की सहायता से ग्रामीण आवास योजना में अपना नाम खोजने का पेज खुलकर आ जाएगा:
awas yojana gramin list 2020
  • अब यहां पर आपको अपना रजिस्ट्रेशन नंबर दिए गए बॉक्स में भर देना है इसके बाद “Sumbit” बटन पर क्लिक कर देना है अगर आपका नाम लिस्ट में मौजूद है तो आपकी जानकारी आपके सामने आ जाएगी
  • अब अगर आप बिना रजिस्ट्रेशन नंबर के अपना नाम आवास योजना सूची में देखना चाहते हैं तो आपको पेज पर मौजूद “Advance Search” बटन पर क्लिक करना है या फिर नीचे दिए गए डायरेक्ट लिंक पर क्लिक कर देना है https://rhreporting.nic.in/netiay/AdvanceSearch.aspx
PMAYG new List by name
  • आपके सामने एडवांस सर्च का पेज खुल कर आ जाएगा यहां पर आपको अपना राज्य, जिला, ब्लॉक, ग्राम पंचायत, योजना का नाम, लाभार्थी का नाम इत्यादि भरकर सबमिट कर देना है अगर आपका नाम लिस्ट में मौजूद है तो आपका डाटा आपके सामने आ जाएगा

PMAYG 2021-22

दोस्तों PMAYG हमारे माननीय प्रधानमंत्री जी की आवास योजना के नाम का एक अल्प रूप है सरल भाषा में कहें तो एक Short नाम है अगर PMAYG शब्दों को विस्तार से समझा जाए तो यह कुछ इस प्रकार से होगा Pradhan Mantri Awas Yojana – Gramin (प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण)

दोस्तों हमारे प्रधानमंत्री जी का सपना है कि 2022 तक भारत में ऐसा कोई भी व्यक्ति ना रहे जिसके पास खुद का एक पक्का घर ना हो यानी कि भारत के हर एक व्यक्ति के पास अपना खुद का एक छत हो जिसके नीचे वह अपना जीवन यापन कर सके. जैसा की दोस्तों आप सभी जानते ही हैं हमारे भारत में गरीबी का प्रतिशत अत्यधिक होने के कारण ऐसे कई परिवार हैं जिनके पास रहने के लिए भी एक पक्की छत नहीं है

इन्हीं सब अवस्थाओं को देखते हुए हमारे प्रधानमंत्री जी ने Pradhan Mantri Awas Yojana – Gramin या फिर PMAYG की शुरुआत की ताकि इस योजना के माध्यम से हमारे उन गरीब परिवारों को एक पक्का छत मुहैया कराया जा सके इसीलिए प्रधानमंत्री मोदी जी ने इस PMAYG योजना के लिए 2022 का लक्ष्य रखकर इस योजना की शुरूआत 2015 में कर दी थी

तो दोस्तों मेरे हिसाब से अब आप इस योजना के मुख्य आधार को समझ गए होंगे जैसा कि हमने ऊपर बताया कि यह योजना हमारे देश के गरीब परिवारों के लिए है हालांकि यह योजना सिर्फ ग्रामीण लोगों के लिए नहीं है इसी की तर्ज पर हमारे प्रधानमंत्री जी ने शहरी लोगों के लिए भी यही योजना चला रखी है जैसे कि इस योजना के नाम के अंत में ग्रामीण है उसी तरह शहरी लोगों के लिए इस योजना के नाम के अंत में अंत में शहरी है

बस PMAY-U योजना के नियमों में कुछ परिवर्तन कर दिया गया है बाकी यह प्रधानमंत्री आवास योजना हमारे देश के सभी नागरिकों के लिए उपलब्ध है चाहे वह गांव से हो या फिर शहर से तो चलिए अब हम PMAYG योजना के कुछ अन्य महत्वपूर्ण बिंदुओं पर चर्चा करते हैं

प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण का लक्ष्य

वर्ष 2022 में भारत अपनी स्वतंत्रता के 75 वर्ष पूर्ण करेगा। माननीय प्रधानमंत्री जी के स्वप्न वर्ष 2022 तक ‘सबके लिए आवास’ के दृष्टिगत ग्रामीण विकास मंत्रालय ने प्रधानमंत्री आवास योजना – ग्रामीण के अंतर्गत तीन वर्षों (2016-17 से 2018-19 तक) में एक करोड़ ग्रामीण आवास निर्माण हेतु सहायता देने का एक महत्वाकांक्षी लक्ष्य निर्धारित किया है। यह सहायता उन परिवारों को दी जाएगी जो बेघर है या कच्चे एवं जीर्ण मकानों में रह रहे हैं।

PMAYG प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) में एक उत्तरदायी कियान्वयन प्रणाली, मजबूत मॉनीटरिंग व्यवस्था एवं फॉलोअप पर जोर दिया गया है। सूचना प्रौद्योगिकी एवं अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी का उपयोग बेहतर निर्णय व्यवस्था एवं डिलीवरी के लिए किया गया है।

बेहतर उत्तरदायित्व के लिए कार्यकम के कियान्वयन की समीक्षा और निगरानी जिला-स्तर पर माननीय सांसदों की अध्यक्षता में गठित दिशा समिति और राज्य स्तर पर मुख्य सचिव की अध्यक्षता में गठित समिति द्वारा करने तथा लेखा जांच (ऑडिट) एवं सामाजिक लेखा परीक्षा (सोशल ऑडिट) की व्यवस्था की गई है ।

इंदिरा आवास योजना (IAY) To PM आवास योजना (PMAYG)

देश में सार्वजनिक आवास कार्यक्रम स्वतंत्रता के तुरंत बाद शरणार्थियों के पुनर्वास के साथ शुरू हुआ और तब से, यह गरीबी उन्मूलन के साधन के रूप में सरकार का एक प्रमुख फोकस क्षेत्र रहा है। ग्रामीण आवास कार्यक्रम, एक स्वतंत्र कार्यक्रम के रूप में, जनवरी 1996 में इंदिरा आवास योजना (IAY) के साथ शुरू हुआ।

हालांकि IAY ने ग्रामीण क्षेत्रों में आवास की जरूरतों को संबोधित किया, समवर्ती मूल्यांकन और नियंत्रक और महालेखा परीक्षक द्वारा प्रदर्शन लेखा परीक्षा के दौरान कुछ अंतराल की पहचान की गई। 2014 में भारत का CAG ये अंतराल, आवास की गैर-बराबरी की कमी, लाभार्थियों के चयन में पारदर्शिता की कमी, घर की गुणवत्ता का कम होना और तकनीकी पर्यवेक्षण का अभाव, अभिसरण, लाभार्थियों द्वारा लाभ नहीं उठाया गया ऋण और कमजोर तंत्र के लिए निगरानी कार्यक्रम के प्रभाव और परिणामों को सीमित कर रही थी।

ग्रामीण आवास कार्यक्रम में इन अंतरालों को संबोधित करने के लिए और 2022 तक “सभी के लिए आवास” प्रदान करने की सरकार की प्रतिबद्धता को देखते हुए, IAY की योजना को 1 अप्रैल, 2016 को प्रधानमंत्री आवास योजना – ग्रामीण (PMAY-G) में पुनर्गठित किया गया है।

PMAY-G का उद्देश्य 2022 तक सभी आवासहीन परिवारों और कच्चे और जीर्ण-शीर्ण घरों में रहने वाले लोगों को बुनियादी सुविधाओं के साथ एक पक्का घर प्रदान करना है। इसका तात्पर्य तीन साल में कच्चे घरों / जीर्ण घरों में रहने वाले 1.00 करोड़ परिवारों को कवर करना है।

PMAYG selection of beneficiary (योजना में लाभार्थी का चयन)

PMAY-G की सबसे महत्वपूर्ण विशेषताओं में से एक लाभार्थी का चयन है। यह सुनिश्चित करने के लिए कि सहायता उन लोगों पर लक्षित की जाती है जो वास्तव में वंचित हैं और चयन उद्देश्यपूर्ण और पुष्टि योग्य है, PMAYG बीपीएल घरों में से एक लाभार्थी का चयन करने के बजाय सामाजिक आर्थिक और जाति जनगणना (SECC) में आवास वंचित मापदंडों का उपयोग करके लाभार्थियों का चयन करता है। SECC 2011 डेटा जो ग्राम सभाओं द्वारा सत्यापित किया जाना है। SECC डेटा घरों में आवास से संबंधित विशिष्ट अभाव को दर्शाता है।

SECC डेटा घरों का उपयोग करना, जो बेघर हैं और 0, 1 और 2 में कच्ची दीवार और कच्ची छत वाले घरों को अलग किया जा सकता है और लक्षित किया जा सकता है ताकि स्थायी प्रतीक्षा सूची भी उत्पन्न हो ताकि यह भी सुनिश्चित हो सके कि राज्यों के पास योजना में शामिल होने वाले परिवारों की सूची तैयार है। आने वाले वर्षों (वार्षिक चयन सूची के माध्यम से) कार्यान्वयन की बेहतर योजना के लिए अग्रणी। लाभार्थी चयन में शिकायतों को दूर करने के लिए एक अपीलीय प्रक्रिया भी रखी गई है।

प्रधानमंत्री आवास निर्माण

निर्माण की बेहतर गुणवत्ता के लिए, राष्ट्रीय स्तर पर एक राष्ट्रीय तकनीकी सहायता एजेंसी (NTSA) की स्थापना की pmay g के लिए परिकल्पना की गई है। गुणवत्ता वाले घर के निर्माण में प्रमुख बाधाओं में से एक पर्याप्त संख्या में कुशल राजमिस्त्री की कमी है। इसे संबोधित करने के लिए, राज्‍यों / संघशासित प्रदेशों में राजमिस्त्री का प्रशिक्षण और प्रमाणन कार्यक्रम शुरू किया गया है।

यह गुणवत्ता निर्माण सुनिश्चित करने के अलावा, ग्रामीण राजमिस्त्री के लिए अतिरिक्त आजीविका उत्पादन और कैरियर की प्रगति को भी सुनिश्चित करेगा। समय पर निर्माण / पूर्णता के लिए और घर के निर्माण की अच्छी गुणवत्ता सुनिश्चित करने के लिए, यह एक पीएमएवाई-जी लाभार्थी को एक क्षेत्र स्तर के सरकारी अधिकारी और एक ग्रामीण राजमिस्त्री के साथ टैग करने की परिकल्पना की गई है।

pmay g लाभार्थी को घर के डिजाइन के bouquet के साथ घर के निर्माण में सहायता की जानी चाहिए, जिसमें आपदा लचीलापन सुविधाओं को शामिल किया गया है जो उनके स्थानीय भू-जलवायु परिस्थितियों के लिए उपयुक्त हैं। ये डिजाइन एक विस्तृत सार्वजनिक परामर्श प्रक्रिया के माध्यम से विकसित किए गए हैं।

इस अभ्यास से यह सुनिश्चित होगा कि लाभार्थी गृह निर्माण के प्रारंभिक चरणों में ओवर-निर्माण नहीं करता है, जिसके परिणामस्वरूप अक्सर अधूरा मकान होता है या लाभार्थी को घर पूरा करने के लिए पैसे उधार लेने के लिए मजबूर किया जाता है।

PMAYG Objectives (उद्देश्य)

PMAY-G का उद्देश्य 2022 तक ग्रामीण क्षेत्रों में कच्चे और जीर्ण-शीर्ण घरों में रहने वाले सभी आवासहीन परिवारों और घरों में बुनियादी सुविधाओं के साथ एक पक्का घर प्रदान करना है।

आवाज सभी के लिए के उद्देश्य को प्राप्त करने के लिए 2021-22 तक देश में 2.95 करोड़ पक्के घर बनाने का लक्ष्य रखा गया है जैसा कि माननीय प्रधानमंत्री जी का सपना है कि देश में सभी परिवारों के पास रहने के लिए पक्की छत हो इसी के चलते इस योजना का मुख्य उद्देश्य देश में रह रहे सभी गरीब परिवारों के लिए एक पक्का घर मुहैया कराना है

PMAYG Scheme Features

  • PMAYg के तहत घर की आकार को 20 वर्ग मीटर जो कि इंदिरा आवास के तहत था इसे बढ़ाकर अब 25 वर्ग मीटर कर दिया गया है जिसमें हाइजेनिक खाना पकाने के लिए एक समर्पित क्षेत्र भी शामिल है।
  • सरकार की इस योजना के तहत सहायता राशि 70,000 रुपये से बढ़ाकर 1.20 लाख रुपये कर दी गई है और साथी सरकार से समय-समय पर संशोधित करती रहती है पहाड़ी इलाकों में यह राशि 75,000 रुपये से लेकर 1.30 लाख रुपये है
  • इकाई (घर) सहायता की लागत केंद्र और राज्य सरकारों के बीच 60-40 के अनुपात में मैदानी क्षेत्रों में और 90:10 उत्तर-पूर्वी और 3 हिमालयी राज्यों जम्मू और कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड के बीच साझा की जानी है।
  • अभिसरण के माध्यम से शौचालय के लिए सहायता (12,000 रुपये) का प्रावधान स्वच्छ भारत मिशन के साथ – ग्रामीण (SBM-G), MGNREGS या धन के किसी अन्य समर्पित स्रोत।
  • pmay g योजना के तहत घर का कंस्ट्रक्शन महात्मा गांधी नरेगा योजना के कुशल कारीगरों के द्वारा किया जाएगा ताकि लाभार्थी को एक मजबूत घर मिले
  • प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण में लाभार्थियों की पहचान SECC Data 2011 के माध्यम से की जाएगी देश की ग्राम पंचायतों के सत्यापन को भी इसमें शामिल किया जाएगा
  • pmayg योजना के तहत लाभार्थियों के लिए बन रहे घरों के परीक्षण के लिए नेशनल टेक्निकल सपोर्ट एजेंसी की मदद ली जाएगी ताकि योजना को टेक्निकल सपोर्ट मिल सके और योजना के कार्यान्वयन में कोई बाधा ना आए
  • लाभार्थी को सभी भुगतान इलेक्ट्रॉनिक रूप से उनके बैंक / डाकघर के खातों में किए जाएंगे जो अधार से सहमति से जुड़े हैं।
  • Sensitization of the beneficiaries on PMAY-G.
  • स्थानीय सामग्री, उपयुक्त डिजाइन और प्रशिक्षित राजमिस्त्री का उपयोग करके लाभार्थियों द्वारा गुणवत्ता वाले घरों के निर्माण पर ध्यान दिया जाएगा।
  • जहां भी संभव हो, ग्राम पंचायत, ब्लॉक या जिले को इकाई के रूप में उपयोग करते हुए संतृप्ति दृष्टिकोण अपनाना।

PMAY-G का दूसरा चरण

आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति (CCEA) ने प्रधानमंत्री आवास योजना को मार्च 2019 से आगे जारी रखने की मंजूरी दी। PMAY-G चरण 2 के तहत, केंद्रीय सरकार वित्त वर्ष 2022 तक 1.95 करोड़ घरों के निर्माण का कुल लक्ष्य रखा गया है। PMAY-G एक महत्वाकांक्षी ग्रामीण आवास योजना है, जहां ग्रामीण क्षेत्रों में सभी वंचित परिवारों को अपना घर मिलेगा।

पीएम नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने पिछले चरण की समाप्ति के बाद पीएम आवास योजना (पीएमएवाई-जी) चरण II के शुभारंभ को मंजूरी दे दी है। सभी PMAY-G लाभार्थियों को धन मिलेगा जो इलेक्ट्रॉनिक रूप से सीधे बैंक खातों में स्थानांतरित होने जा रहे हैं। सभी बचे हुए ग्रामीण परिवार जो बेघर हैं या जीर्ण-शीर्ण घरों में रह रहे हैं, उन्हें 2022 तक पक्के मकान उपलब्ध कराए जाएंगे।

PMAY-G Phase II के कुछ महत्वपूर्ण बिंदु

पीएम आवास योजना ग्रामीण (PMAY-G) चरण 2 की महत्वपूर्ण विशेषताएं और मुख्य विशेषताएं कुछ इस प्रकार हैं:

CCEA ने ग्रामीण आवास योजना PM Awaas Yojana Gramin (PMAY-G) को चरण II में 2019-20 तक PMAY-G चरण 1 के मौजूदा मानदंडों के अनुसार जारी रखने की मंजूरी दी। सरकार ने 60 लाख घरों का लक्ष्य रखा है जिसमें 76,500 करोड़ रुपये का वित्तीय निहितार्थ शामिल है। इसमें केंद्रीय सरकार शेयर 48,195 करोड़ रुपये और राज्य का हिस्सा 28,305 करोड़ रुपये है।

PMAY-G चरण 2 के लिए कुल लक्ष्य वित्त वर्ष 2022 तक 1.95 करोड़ घरों का निर्माण करना है।

अंतिम अवास सूची के सभी अतिरिक्त पात्र परिवारों को PMAY-G आवास योजना की स्थायी प्रतीक्षा सूची (PWL) में शामिल किया जाएगा। घरों के निर्माण की ऊपरी सीमा 1.95 करोड़ है और उच्च प्राथमिकता उन राज्यों / केंद्र शासित प्रदेशों को दी जाएगी जहां पीडब्ल्यूएल समाप्त हो गया है।

केंद्रीय सरकार PMAY-G योजना की वैधता तक मौजूदा EBR तंत्र के माध्यम से अतिरिक्त वित्तीय आवश्यकता के लिए उधार लेने की अनुमति देगा।

काम के दौरान पंच सूत्र का ध्यान Corona Update

Spread the love अभी शेयर करें

3 thoughts on “|सूची| प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण PMAYG New List 2021”

  1. hello me up se hu harmirpur jila up imiliya thna muskara hu meri aap se perathna he ki mera perdhn mantri aawash nahi mil pa raha jishke liye ham bahut pareshan aap awash dilwane ki keripa kare aapki mahan daya hogi nam bhishm vishvkarma geram imiliya thna mushkar jila harmirpur up

    Reply
  2. hello me up se hu harmirpur jila up imiliya thna muskara hu meri aap se perathna he ki mera perdhn mantri aawash nahi mil pa raha jishke liye ham bahut pareshan aap awash dilwane ki keripa kare aapki mahan daya hogi nam bhishm vishvkarma geram imiliya thna mushkar jila harmirpur up
    mobail no 8545010739

    Reply

Leave a Comment