Mukhyamantri shramik sewa yojana 2020 Application Form [Prasuti Sahayata]

दूसरों के साथ शेयर करें

मध्य प्रदेश सरकार की Mukhyamantri Shramik Sewa Yojana [Prasuti Sahayata] के लिए Online आवेदन फॉर्म shramiksewa.mp.gov.in पर उपलब्ध कराया गया है पोर्टल की सहायता से राज्य की गर्भवती महिलाएं ₹16000 की सहायता राशि प्राप्त करने के लिए आवेदन कर सकती हैं, आवश्यक दस्तावेज, पात्रता मानदंडों की जांच कर सकती हैं और इसके अलावा पहली और दूसरी गर्भावस्था के दौरान किस्तों के साथ सहायता राशि प्राप्त कर सकती हैं मुख्यमंत्री श्रमिक सेवा प्रसूति योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज और योजना की पूरी जानकारी यहां से प्राप्त करें

मध्य प्रदेश राज्य सरकार Shramik Seva Prasuti Sahayata Yojana 2020-21 के तहत गर्भवती महिलाओं के पहले दो बच्चों के जन्म पर महिलाओं को ₹16000 की सहायता राशि प्रदान कर रही है और राज्य सरकार MP Shramik Seva Yojana (MMSSPSY) के तहत Application Form shramiksewa.mp.gov.in पर आमंत्रित कर रही है

Shramik Seva Yojana | MP Shramik Seva Yojna | Shramik Seva Sahayata Yojana | Mukhyamantri Shramik Sewa Prasuti Sahayata Yojana | MP Prasuti Sahayata Scheme | श्रमिक सेवा प्रसूति योजना | shramiksewa.mp.gov.in

Mukhyamantri Shramik Sewa Prasuti Sahayata Yojana

मुख्यमंत्री श्रमिक सेवा प्रसूति सहायता योजना के तहत सभी पात्र लाभार्थियों को दो समान किस्तों में through direct conditional cash transfer मोड़ के तहत नगद प्रोत्साहन प्रदान किया जाएगा मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान जी ने आर्थिक रूप से कमजोर महिलाओं को Sambal Yojana (MMSSPSY) के तहत गर्भावस्था के दौरान 4,000 रुपये और प्रसव के बाद 12,000 रुपये दो किस्तों में प्रदान करने की बड़ी घोषणा की है

MORE  mponline citizen registration, Kiosk apply, login 2020

मध्य प्रदेश सरकार ने Mukhyamantri Shramik Sewa (Prasuti Sahayata) Yojana 2020 को लागू करना शुरू कर दिया है। योजना का लाभ उठाने के लिए सभी गर्भवती महिलाएं पंजीकरण करा सकती हैं। इस लेख के माध्यम से हम आपको यहां, योजना के उद्देश्यों, पात्रता, beneficiaries List, योजना में आवेदन कैसे करें और संपूर्ण विवरण के बारे में बताएंगे। मध्य प्रदेश राज्य सरकार द्वारा MP Mukhyamantri Shramik Seva Prasuti Sahayata Yojana 1 अप्रैल 2018 से पूरे राज्य में प्रभावी रूप से लागू की गई है।

Shramik Seva Prasuti Sahayata Yojana Registration Process

जो भी लाभार्थी मुख्यमंत्री श्रमिक सेवा प्रसूति सहायता योजना के तहत लाभ प्राप्त करना चाहते हैं उन्हें नीचे दी गई प्रक्रिया को अच्छे से समझ लेना चाहिए क्योंकि Process Flow of MMSSPSY नीचे दिए गए अनुसार होगा:

चरण 1- प्रोग्रामेटिक विवरण NHM Portal (National Health Mission) मैं दर्ज किए जाएंगे।

चरण 2 – एनएचएम पोर्टल में पति और पत्नी दोनों की समागम संख्या दर्ज करने के प्रावधान हैं।

चरण 3- योजना के लिए लाभार्थी की पात्रता को मान्य करने के लिए श्रमिक समागम पोर्टल।

चरण 4 – एनएचएम पोर्टल एक एमआईएस रिपोर्ट उत्पन्न करने के लिए।

चरण 5 – अकाउंटेंट ई विट्टप्रवाह के प्रसूति सहायता मॉड्यूल में निर्माता बन जाता है।

चरण 6 – मेडिकल कॉलेज वार बजट आवंटन राज्य स्तर पर किया जाना है।

चरण 7 – सत्यापनकर्ता ई-विटपरावा पर सभी भुगतान विवरण और डॉक्यूमेंट की जांच करता है।

चरण 8 – डीडीओ आधार आधारित बायोमेट्रिक डिवाइस के माध्यम से भुगतान को मंजूरी देगा और भुगतान शुरू किया जाएगा।

चरण 9 – भुगतान की सफलता / विफलता रिपोर्ट और सुलह रिपोर्ट अनुमोदन से टी + 1 दिन में उपलब्ध कराई जाएगी।

Mukhyamantri Shramik Sewa Yojana Application Form PDF

श्रमिक सेवा प्रसूति योजना Data Collection एप्लीकेशन फॉर्म 2020 PDF का प्रारूप डाउनलोड करने के लिए नीचे दिए गए डायरेक्ट लिंक पर क्लिक करके आप आसानी से Shramik Seva Prasuti Sahayata Yojana Application Form डाउनलोड कर सकते हैं फॉर्म का प्रारूप नीचे दिखाया गया है जिसे आप पूरी पीडीएफ खोल कर चेक कर सकते हैं:

MORE  MP Saral Bijli Bill Subsidy Yojana 2018-19 सरल बिजली बिल सब्सिडी योजना
DATA Collection Application Form PDFDownload
MMSSPSY DATA Colection Form

लोग ऊपर दी गई पूरी प्रक्रिया प्रवाह की जांच कर सकते हैं, जिसके अनुसार विवरणों को Mukhyamantri Shramik Sewa सहायता योजना के आवेदन पत्र में भरना होगा।

Mukhyamantri Shramik Sewa Yojana Eligibility Criteria

मुख्यमंत्री श्रमिक सेवा प्रसूति सहायता योजना के लिए केवल वह परिवार पात्र होंगे जो नीचे दिए गए पात्रता मानदंडों को पूरा करते हां योजना के लिए पात्रता मानदंड निम्न प्रकार से हैं:

  • सभी गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाएं जिनकी आयु 18 वर्ष से अधिक है।
  • पंजीकृत श्रमिक महिला या पंजीकृत श्रमिक पुरुष की पत्नी योजना के पात्र हैं।
  • महिला का संस्थागत प्रसव सार्वजनिक संस्थान में होना चाहिए

यह पात्रता मानदंड केवल पहले 2 जीवित बच्चों के लिए मान्य है। और इसके अलावा, मध्य प्रदेश की श्रमिक योजनाओं के तहत पंजीकृत नहीं होने वाली गर्भवती महिलाओं / माताओं को इस योजना से बाहर रखा गया है।

श्रमिक सेवा प्रसूति योजना Required Documents

योजना के तहत जो भी पात्र लाभार्थी योजना का लाभ लेना चाहते हैं उनके पास नीचे दिए गए महत्वपूर्ण दस्तावेज होनी चाहिए योजना के दिशा निर्देशों के अनुसार आवश्यक दस्तावेजों की सूची निम्न प्रकार से हैं:

  • पति या पत्नी की SAMAGRA ID
  • श्रमिक पंजीकरण संख्या / पंजीकरण कार्ड
  • सरकार के संस्थान में प्रसव का प्रमाण पत्र (डिस्चार्ज टिकट)।
  • ANM/MO द्वारा प्रमाणित MCP कार्ड।
  • बैंक पासबुक (बैंक अकाउंट आधार से लिंक होना चाहिए)
  • आधार कार्ड

सत्यापन प्रक्रिया लाभार्थी द्वारा प्रमाणित दस्तावेजों, प्रमाणित एमसीपी कार्ड, एनएचएम और SAMAGRA Portal के माध्यम से पंजीकरण सत्यापन पर आधारित है।

MMSSPSY Assistance Amount

मुख्यमंत्री श्रमिक सेवा प्रसूति सहायता योजना के तहत दी जाने वाली राशि का पूरा ब्यौरा नीचे दिया गया है योजना की इंस्टॉलमेंट की जानकारी आप नीचे दी गई Imgae को देखकर प्राप्त कर सकते हैं:

MMSSPSY Assistance Amount
CM Shramik Seva Yojana Assistance Amount
MMSSPSY Assistance Amount

मध्य प्रदेश सरकार पहले ही 22 जिलों की महिला लाभार्थियों के बैंक खाते में 80 करोड़ की सहायता राशि हस्तांतरित कर चुकी है, सरकार MP Shramik Seva Prasuti Sahayata Yojana के तहत आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के बच्चों की स्कूल फीस का भुगतान भी करेगी

MORE  Rojgar Setu Yojana Registration Start 2020 Setu Portal

Mukhyamantri Shramik Sewa Yojana लाभार्थी श्रेणियों की लिस्ट

यहां नीचे हमने उन सभी लाभार्थियों की पूरी सूची प्रदान की हुई है जिन्हें Mukhyamantri Shramik Sewa Prasuti Sahayata Yojana मैं शामिल किया गया है:

  • कृषि मजदूर
  • सिलाई
  • लुहार
  • लघु कृषक
  • अगरबत्त्ती बनाने वाले
  • बढई (ढाई एकड़ तक के भू-स्वामी),
  • घरेलू श्रमिक,
  • चमड़े की वस्तुए बनाने वाले
  • फर्नीचर बनाने वाले
  • फेरी लगाने वाले,
  • जूते बनाने वाले चर्मकार
  • माचिस एवं अतिशबाजी उद्योग में लगे श्रमिक
  • दुग्ध श्रमिक,
  • ऑटो रिक्शा चालक
  • प्लास्टिक उद्योग
  • मछली पालन श्रमिक,
  • आटा मिलों में काम करने वाले
  • निजी सुरक्षा एजेन्सी में काम करने वाले
  • पत्थर तोडने वाले,
  • तेल मिलों में काम करने वाले
  • कचरा बीनने वाले
  • पक्की ईंट बनाने वाले,
  • दाल मिलों में काम करने वाले
  • सफाई कर्मी
  • मोटर परिवहन,
  • चॉवल मिलों में काम करने वाले
  • हम्माल एवं तुलावटी
  • हाथकरघा,
  • लकड़ी का काम करने वाले
  • गृह उद्योगों में नियोजित श्रमिक
  • पावरलूम
  • बर्तन बनाने वाले
  • रंगाई-छपाई
  • कारीगर

For More Details Check Complete Scheme PDF Click Here

Leave a Comment