Mahatma Gandhi NREGA yojana | nrega Scheme 2020

दूसरों के साथ शेयर करें

महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम, Mahatma Gandhi NREGA Yojana (MNREGA) का उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को आजीविका सुरक्षा प्रदान करना है तथा उन ग्रामीण परिवारों के प्रौढ़ सदस्यों को जो अपनी इच्छा से कार्य करना चाहते हैं

सभी ग्रामीण मजदूरों को 100 दिवस का गारंटीकृत मजदूरी रोजगार किया जाता है यह Mahatma Gandhi NREGA Yojana निर्धनता से नीचे रहने वाले ग्रामीण लोगों को मदद करने हेतु मजदूरी रोजगार और महात्मा गांधी नरेगा कार्यक्रम कई योजनाओं को प्रयोजित कर रहा हैं।

nrega | nrega nic | nrega job card | manrega nic com | nrega card | mahatma gandhi nrega | mahatma gandhi national rural employment guarantee act | nrega yojana | mahatma gandhi nrega yojana | mahatma gandhi nrega | www manrega com | नरेगा योजना | मनरेगा

Nrega (National Rural Employment Guarantee Act)

दोस्तों हम सबसे पहले आपको यह बताएं कि आप आखिर जॉब कार्ड को किस तरह से डाउनलोड कर सकते हैं और किस तरह से नरेगा से संबंधित और अधिक जानकारियां प्राप्त कर सकते हैं उससे पहले हम आपको बताना चाहेंगे कि आखिर नरेगा क्या है ?

भारत में केंद्र सरकार ने भारत के 200 जिलों में काम करने के अधिकार के लिए एक कानून बनाया, जिसे राष्ट्रीय ग्रामीण विकास गारंटी अधिनियम 2005 (NREGA, 2005) कहा जाता है। इसे महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण विकास गारंटी अधिनियम 2005 के रूप में भी जाना जाता है

mahatma gandhi nrega

यह एक भारतीय श्रम कानून और सामाजिक सुरक्षा उपाय है जो काम की गारंटी देता है। जो लोग काम करने में सक्षम हैं और काम कर रहे हैं, उन्हें इस अधिनियम के तहत सरकार द्वारा एक वर्ष में 100 दिनों के रोजगार की गारंटी दी जाती है और सरकार लोगों को बेरोजगारी भत्ता देती है, अगर वे रोजगार देने में विफल रहते हैं

MNREGA Scheme

mahatma gandhi nrega yojana गरीबी से नीचे रहने वाले ग्रामीण लोगों को मदद करने हेतु मजदूरी रोजगार कार्यक्रम है सरकार की सरकार के इस महात्मा गांधी नरेगा योजना कार्यक्रम के तहत कई योजनाओं को संचालित किया जा रहा है।

महात्मा गांधी नरेगा संपत्तियों (जलागम स्थल, कृषि जलाशय, पुन: स्रोत जलाशय, चेक डैम, रोड, लेयर, सिंचाई चैनेल्स इत्यादि) को संकलित करने भंडारण और विश्लेषण करने हेतु दूर संवेदी (RS) एवं भौगोलिक सूचना व्यवस्था (GIS) तकनॉलोजी एक प्रभावी साधन के रुप में कार्य करता है संपत्ति प्रबंधन के क्षेत्र में Geographic information system का उपयोग करते हुए संपत्तियों के भौगोलिक परिप्रेक्ष्य को समझना तथा आस्तियों का प्रभावी प्रबंधन में सुधार किया जा सकता है।

MORE  Swayam Portal Online | Swayam Course 2020 | Swayam nptel

सभी संपत्तियों में स्थानिक स्थल एक मुख्य आम पहलू है भावी कार्य और उचित निर्णय लेने हेतु सूचना के साथ मनरेगा के अंतर्गत सभी आस्तियों का GIS मानचित्रण कर सकता है।

जियो मनरेगा

महात्मा गांधी नरेगा Geographic information system (GIS) सोल्युशन का नाम “जियो मनरेगा’ दिया गया है जिसका उद्देश्य संपूर्ण ग्रामीण भारत में संपत्ति सूचना व्यवस्था के लिए एकल एवं एकीकृत दृष्टिकोण प्रदान करना है ।

जियो मनरेगा की शुरुआत 1 सितम्बर, 2016 को हुई । इनमें मोबाईल एप्लिकेशन का उपयोग करते हुए महात्मा गांधी नरेगा संपूरित संपत्तियों का फोटो जियो टैगिंग करना शामिल है । तकनॉलोजी समर्थन प्रदान करते हुए मंत्रालय ने राष्ट्रीय दूर संवेदी केन्द्र, भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए ।

National Remote Sensing Centre (NRSC) ने मोबाईल अनुप्रयोग एवं महात्मा गांधी नरेगा आस्तियों को प्रदर्शित करने हेतु वेब पोर्टल को विकसित किया है । जियो मनरेगा भुवन पोर्टल (ई-शासन) एक प्रवेश द्वार के रुप में कार्य करता है तथा स्थानीय डाटा समुदाय में विभिन्न क्षेत्रीय स्तरों से स्टेकहोल्डरों के बीच भू-स्थानिक डाटा को शेयरिंग और समन्वित करने की सुविधा को सरल बनाता है।

इससे संबंधित उपयोगकर्ताओं को भू-स्थानिक डाटा को खोजने, स्थल का पता लगाने एवं प्रकाशित करने में मदद करता है तथा (समुचित लॉग-इन प्राधिकार सहित) विविध उपयोगकर्ता समूह की आवश्यकताओं को सरल बनाता है।

GIS समर्थित पोर्टल आयोजनाकर्ताओं, निर्णयकर्ताओं और पब्लिक के लिए भू-स्थानिक डाटा के उपयोग में सुधार, पोर्टल रखरखाव प्रक्रिया, भंडारण और संवितरण का कार्य करता है

MGNREGA OverView

Yojna NameMahatma Gandhi NAREGA Yojana
Scheme ByCentral Govt.
Lauch Date25 अगस्त, 2005
DepartmentMinistry of Rural Development
Websitenrega.nic.in
Netnrega libraryClick Here

MGNREGA का इतिहास

महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम (MGNREGA), जिसे महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना (MNREGS) के रूप में भी जाना जाता है, यह 25 अगस्त, 2005 को लागू किया गया भारतीय कानून है। मनरेगा हर वित्तीय में सौ दिन के रोजगार के लिए कानूनी गारंटी प्रदान करता है।

nrega

किसी भी ग्रामीण घर के वयस्क सदस्यों को वैधानिक न्यूनतम वेतन पर सार्वजनिक कार्य-संबंधित अकुशल मैनुअल काम करने के लिए तैयार करना। Ministry of Rural Development (MRD), भारत सरकार राज्य सरकारों के साथ मिलकर इस योजना के संपूर्ण कार्यान्वयन की निगरानी कर रही है

MORE  Nrega Job Card Download 2020 | mahatma gandhi nrega yojana

यह अधिनियम ग्रामीण लोगों की क्रय शक्ति में सुधार लाने के उद्देश्य से शुरू किया गया था, मुख्य रूप से ग्रामीण भारत में गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले लोगों के लिए अर्ध या गैर-कुशल काम प्रदान किया जाता है।

NREGA Job Card Download Online

Mahatma Gandhi NREGA Yojana की सभी जानकारी अब आपको ऑनलाइन ही मिलती रहेगी अभी सभी जानकारियों को प्राप्त करने के लिए हमारे आम नागरिकों को यहां वहां बिल्कुल भी नहीं भटकना होगा और काफी ज्यादा परेशानियों का सामना भी नहीं करना पड़ेगा अगर आपने भी नरेगा में कार्य किया है और आप को सही तरीके से पैसा नहीं मिल रहा है तो मनरेगा के ऑफिशियल पोर्टल nrega.nic.in से जॉब कार्ड के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं

और इसके अलावा आप अपने जॉब कार्ड का रिकॉर्ड भी निकाल पाएंगे और अगर आपको पैसा नहीं मिल रहा है तो आप ऑनलाइन शिकायत भी कर कर सकते हैं तो आप अगर इन सभी जानकारियों को ऑनलाइन ही प्राप्त करना चाहते हैं और जॉब कार्ड को डाउनलोड करने के बारे में पूरा प्रोसेस जानना चाहते हैं

तो हमने इसके लिए एक और आर्टिकल को अपने पोर्टल पर पब्लिश किया हुआ है जिसकी लिंक हम आपको नीचे दे रहे हैं जिस पर क्लिक करके आप जॉब कार्ड से संबंधित स्टेप बाय स्टेप पूरी प्रोसेस समझ सकते हैं और अगर आप जॉब कार्ड डायरेक्ट ही डाउनलोड करना चाहते हैं तो आप https://nrega.nic.in/ लिंक पर जा सकते हैं

Job Card Download Full Prosses: https://cscportal.in/nrega-job-card/

मनरेगा योजना के तहत पंजीकरण और सत्यापन

अगर कोई व्यक्ति योजना के तहत कार्य करना चाहता है तो वह ग्राम पंचायत में जाकर योजना में आवेदन कर सकता है

ग्राम पंचायत द्वारा मनरेगा योजना के तहत रोजगार के लिए आवेदन प्राप्त होने पर एक सत्यापन प्रक्रिया की जाएगी। इस प्रक्रिया को आवेदन में भरे जाने की प्राप्ति की तारीख से लगभग 14 दिन लगेंगे। mahatma gandhi nrega yojana के तहत नीचे कुछ बिंदुओं को सत्यापित किया जाएगा:

  • बताए गए घर का क्रॉसचेकिंग यानि कि यह प्रामाणिक है या नहीं।
  • ग्राम पंचायत का सत्यापन जहां घर स्थित है।
  • आवेदकों के उस विशेष घर के सदस्य होने का प्रमाणीकरण।

मजदूरी आधारित मॉडल क्या है?

यह योजना के तहत कार्य कराने का एक मॉडल है, जहां प्रत्येक श्रमिक को कार्य-दिवस के आधार पर एक निश्चित पूर्वनिर्धारित राशि का भुगतान किया जाता है। कोई मासिक वेतन नहीं है। एक व्यक्ति एक दिन में कुछ घंटों के लिए काम करेगा और दिन के अंत में, उसे या उसके द्वारा प्रदान किए गए श्रम का भुगतान किया जाएगा। कई कारक हैं जो दैनिक वेतन की गणना के लिए उपयोग किए जाते हैं जिनमें से कुछ इस प्रकार से हैं:

  • काम के घंटे की संख्या।
  • कार्य का कठिनाई स्तर।
  • हाल की आर्थिक स्थितियों के अनुसार दैनिक जीविका लागत।
MORE  Sukanya Samriddhi Yojana Account Online 2020 Interest Rate

इसके अलावा ऐसे ही कई अन्य कारक हैं जो दैनिक वेतन की गणना करते समय काम में लाए जाते हैं खाना की दैनिक मजदूरी प्रदान करना ऊपर दिए गए मुख्य कारकों पर ही निर्भर करता है

MGNREGA Features

मनरेगा का मुख्य उद्देश्य भारतीय ग्रामीण क्षेत्रों को आजीविका सुरक्षा प्रदान करना है जिसके चलते mahatma gandhi nrega yojana की बहुत सारी विशेषताएं हैं जो इस कार्यक्रम को बहुत ही खास बनाती हैं इस योजना की कुछ मुख्य विशेषताएं निम्न प्रकार से हैं:

  • 100 दिन की मजदूरी-रोजगार की गारंटी।
  • प्रत्येक वित्तीय वर्ष में प्रदान किए जाने वाले ऐसे रोजगार के अवसर।
  • ग्रामीण परिवारों के केवल इच्छुक वयस्कों को ही रोजगार उपलब्ध कराया जाएगा। वयस्कों के लिए 18 वर्ष से अधिक आयु के लोगों का उल्लेख है।
  • सरकार आवेदन की तिथि से 15 दिनों के भीतर रोजगार प्रदान करेगी।
  • यदि सरकार प्रस्तावित समय सीमा के भीतर काम प्रदान करने में विफल रहती है, तो आवेदकों को बेरोजगारी भत्ते प्राप्त होंगे।
  • प्रत्येक आवेदक को उसके निवास के पते के 5 किलोमीटर के भीतर काम उपलब्ध कराया जाएगा।
  • 100 दिनों के लिए नियोजित लोगों को न्यूनतम मजदूरी का भुगतान किया जाएगा।
  • महिलाओं और पुरुषों दोनों को काम करने का समान अधिकार है और वे समान वेतन दरों के हकदार हैं।
  • 2008 के बाद से, लाभार्थी सीधे अपने पोस्ट ऑफिस या बैंक खातों में मजदूरी प्राप्त कर रहे हैं।
  • मनरेगा के लिए नामांकन करने वाले सभी लोगों को जॉब कार्ड दिए जाएंगे।
  • ग्राम सभा वेतन चाहने वालों के लिए अपनी आवाज उठाने और मांग करने का प्रमुख मंच है।
  • यह ग्राम सभा और ग्राम पंचायत है जो मनरेगा के तहत कामों की शेल्फ को मंजूरी देती है और उनकी प्राथमिकता तय करती है।

Reference: Mahatma Gandhi NREGA Yojana Portal

3 thoughts on “Mahatma Gandhi NREGA yojana | nrega Scheme 2020”

Leave a Comment