Janani Suraksha Yojana 2022: जननी सुरक्षा योजना आवेदन ऑनलाइन

PM Janani Suraksha Yojana 2022 | पीएम जननी सुरक्षा योजना आवेदन ऑनलाइन | JSY – National Health Mission | Janani Suraksha Yojana Registration | JSY Online Apply | janani suraksha yojana payment status

प्रधान मंत्री जी ने देश की माताओं के लिए यह एक महातपूर्ण योजना लागू की है यहाँ हम जानेंगे की जननी सुरक्षा योजना 2022 – JSY Scheme क्या है, योजना के उद्देश्य, janani suraksha yojana benefits, Key Highlights, जनानी योजना की विशेषताएं, मानदंड, आशा कार्यकर्ताओं की भूमिका, आधिकारिक वेबसाइट, रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया आदि की पूरी जानकारी यहाँ से चेक करें

जननी सुरक्षा योजना 2022

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी का मानना है कि कमजोर नींव पर मजबूत इमारत का निर्माण नही हो सकता। देश का बचपन कमजोर ना हो इसके लिए केन्द्र सरकार ने गरीब महिलाओं के स्वास्थ्य मुद्दे पर पूरा ध्यान देते हुए जननी सुरक्षा योजना की घोषणा की है। 

जननी सुरक्षा योजना (JSY) केंद्र  के राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन द्वारा  प्रायोजित योजना है जिसके तहत गरीबी रेखा के नीचे जीवनयापन करने वाली ग्रामीण एवं शहरी गर्भवती महिलाओं को संस्थागत प्रसूति कराने के लिए नकद सहायता दी जाती है। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा घोषित Janani Suraksha Yojana का लक्ष्य है गरीब गर्भवती महिलाओं की सुरक्षित डेलिवरी तथा उनके नवजात शिशुओं की स्वास्थ्य सुरक्षा एवं देखभाल। 

जननी सुरक्षा योजना एक सुरक्षित मातृत्व कार्यक्रम है जिसके तहत गर्भवती महिलाओं को चिकित्सा सुविधा और वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है। 

Highlights जननी सुरक्षा योजना: 

योजना का नाम Janani Suraksha Yojana 2022
द्वारा प्रायोजितकेंद्र सरकार
Launched Byप्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा 
घोषणा का वर्ष 12 अप्रैल 2005 
योजना कार्यान्वयन की तिथि 1 अप्रैल 2016
लाभार्थी गरीबी रेखा से नीचे जीवनयापन करने वाली महिलाएं और शिशु
आवेदन प्रक्रियाOnline / ऑफलाइन 
आधिकारिक वेबसाइट nhm.gov.in

Janani Suraksha Yojana के उद्देश्य :

गरीबी रेखा से नीचे जीवनयापन करने वाली गर्भवती महिलाओं को संस्थागत प्रसूति कराने के लिए आर्थिक सहायता प्रदान करना जिससे जच्चा – बच्चा दोनों सुरक्षित रहें। मातृ मृत्यु दर एवं शिशु मृत्यु दर में कमी लाना। 

  • ग्रामीण एवं शहरी दोनों क्षेत्रों की गरीबी की रेखा से नीचे जीवनयापन करने वाली महिलाओं को निःशुल्क प्रसूति (डेलिवरी) कराने की सुविधा देना। 
  • शिशु के जन्म के पश्चात भी आशा कार्यकत्रियों के माध्यम से उनकी और शिशुओं की देखरेख करना। 
  • योजना के माध्यम से निश्चित अवधि पर लगने वाले सभी टीकाकरण से संबंधित जानकारी देना और निःशुल्क टीकाकरण की सुविधा भी देना। 
  • महिलाओं को आर्थिक सहायता

Janani Suraksha Yojana Assistance amount

JSY – Janani Suraksha Yojana के तहत सरकार गर्भवती महिलाओं को आर्थिक सहायता प्रदान करती है जोकि कुछ इस प्रकार है- 

प्रोत्साहन धनराशि का प्राविधान ग्रामीण क्षेत्रशहरी क्षेत्र
लाभार्थी को दी जाने वाली राशि14001000
घरेलु प्रसव हेतु दी जाने वाली राशि (केवल BPL धारण) 500500

National Health Mission – JSY Features:

  • जननी सुरक्षा का संचालन देश के सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में किया जाता है। 
  • इस योजना में जिन राज्यों में संस्थागत प्रसव की दर कम है वे LPS category में आते हैं जैसे उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, उत्तराखंड, बिहार, झारखंड, छत्तीसगढ़, असम, राजस्थान, ओडिशा एवं जम्मू। शेष राज्यों में प्रसव की दर उच्च है वे HPS catagory में रखे गए हैं। नकद सुविधाएं इस आधार पर ही दी जाती हैं। 
  • प्रसव के समय बेहतर सेवाएं प्रदान करने के लिए प्रत्येक ब्लॉक में कम से कम  दो इच्छुक निजी संस्थानों को मान्यता प्रदान की जाएगी।
  • इस योजना का लाभ उठाने के लिए पंजीकृत लाभार्थी के पास MCH कार्ड होना अनिवार्य है। 
  • गर्भवती महिलाओं की मदद के लिए आंगनबाड़ी और आशा कार्यकर्ताओं को नियुक्त किया गया है। 
  • गर्भवती महिला के बच्चे के जन्म के पश्चात 5 साल तक मां और बच्चे को मुफ्त टीकाकरण और अन्य सुविधाओं हेतु कार्ड दिया जाता है। 
  • लाभार्थी गर्भवती महिलाएं दो बार अपने प्रसव की जांच मुफ्त करा सकती हैं। 
  • यदि पति या पत्नी बच्चे के जन्म के बाद नसबंदी करवा लेते हैं तब उन्हें मुआवजा राशि प्रदान की जाएगी।
  • प्रत्येक गाँव जिसकी जनसंख्या कम से कम 1000 है वहां एक आशा कार्यकर्ता का प्रावधान है। आदिवासी और पहाड़ी इलाकों में प्रत्येक टोले में आशा हो सकती है। शहरों में गंदी बस्ती ( स्लम) वाले इलाकों को प्राथमिकता दी जाती है। 
  • इस योजना की निगरानी के लिए उप केन्द्र स्तर पर मासिक बैठक की जाती है। यह बैठक महीने के तीसरे शुक्रवार को आयोजित की जाती है। शुक्रवार के दिन छुट्टी होने पर यह बैठक अगले दिन आयोजित की जाती है। 

Pradhan Mantri Smartphone Yojana 2022

जननी सुरक्षा योजना को सफल बनाने में आशा कार्यकर्ताओं की अहम भूमिका Accredited Social Health Activist (ASHA )

  • महिलाओं और सरकार के बीच एक अहम कडी है आशा कार्यकर्ता जिनकी भूमिका बहुत व्यापक है। 
  • सुरक्षित मातृत्व एवं बाल मृत्यु दर कम करने के लिए आशा प्रमुख प्रेरक है। 
  • आशा मान्यता प्राप्त सामाजिक स्वास्थ्य कार्यकर्ता है जो JSY योजना के अन्तर्गत लाभार्थी महिलाओं की मदद एवं सुरक्षा के लिए जिम्मेदार हैं।
  • प्रत्येक गाँव जिसकी जनसंख्या कम से कम 1000 है वहां एक आशा कार्यकर्ता का प्रावधान है।
  • आदिवासी और पहाड़ी इलाकों में प्रत्येक टोले में आशा हो सकती है। 
  • कार्यकर्ता उन महिलाओं में से चुनी जाती हैं जिनकी आयु 25-45 हो। वे अधिमानतः शादीशुदा, विधवा, परित्यक्ता या तलाकशुदा होनी चाहिए।
  • वे पढ़ी-लिखी होनी चाहिए। कम से कम  आठवीं पास। यदि ग्राम में आठवीं पास महिला नही है तब पांचवी पास का चयन किया जा सकता है। 
  • आशा कार्यकर्ता अपने क्षेत्र में उन गर्भवती महिलाओं की पहचान करती है जो इस योजना के लाभ की पात्र हैं। 
  • आशा प्रसव के समय गर्भवती महिला के साथ स्वास्थ्य संस्था में जाती है और वहां उसकी मदद के लिए कम से कम दो दिन रहती है। 
  • आशा स्वास्थ्य संबंधित सब जानकारियां ग्रामवासियों को देती है जैसे गांव में स्वच्छता रखने के फायदे, साफ पानी के फायदे और गंदे पानी के नुकसान। बच्चों का स्वास्थ्य, परिवार कल्याण एवं पोशन के बारे में भी बताती है। 
  • इन कामों में Auxiliary Nursing Midwifery (A.N.M) एवं Multi Purpose Health Worker (M.P. H.W) तथा आंगनबाड़ी कार्यकर्ता उनकी मदद करती हैं। 
  • आशा कार्यकर्ता का चयन ग्राम सभा द्वारा किया जाता है। ग्रामीण क्षेत्रों में उनके लिए 300 रूपये और शहरी क्षेत्रों में 200 रूपये दिए जाते हैं। इस राशि को अब बढ़ाने पर विचार किया जा रहा है। 

मानदंड Eligibility Criteria :

  • आवेदन करने वाली महिला की उम्र 19 वर्ष या उससे अधिक होनी चाहिए। 
  • सिर्फ गरीबी से नीचे जीवनयापन करने वाली महिलाएँ इस योजना का लाभ उठा सकती हैं। 
  • ग्रामीण और शहरी दोनों क्षेत्र की बीपीएल कैटेगरी की महिलाएं आवेदन कर सकती हैं। उनका सरकारी अस्पतालों में प्रसव कराने हेतु अपना पंजीकरण होगा। 
  • इस योजना के तहत प्रथम दो बच्चों के जन्म में बीपीएल परिवार योजना का लाभ उठा सकते हैं। 

जननी सुरक्षा योजना के लिए दस्तावेज :

  • आधार कार्ड 
  • बीपीएल राशन कार्ड 
  • निवास प्रमाणपत्र 
  • जननी सुरक्षा कार्ड 
  • सरकारी अस्पताल द्वारा जारी डेलिवरी सर्टिफिकेट 
  • बैंक पास 
  • पासपोर्ट साइज़ फोटो 
  • मोबाईल नम्बर 

Janani suraksha yojana online registration

  • आवेदिका को सर्वप्रथम Ministry of Health and Family Welfare, govt of India की साईट से Application फार्म डाउनलोड करना होगा। 
  • सभी जानकारी भरने के बाद सभी दस्तावेजों को अटैच करना होगा। 
  • फिर आवेदन फार्म को आंगनवाड़ी या महिला स्वास्थ्य केन्द्र में जमा करना होगा। 

भारत में एक बडा समुदाय BPL की क्षेणी में आता है। गरीबी के नीचे रहने के कारण ऐसे परिवार गर्भवती महिलाओं का ठीक प्रकार ख्याल नहीं रख पाते जिस वजह से बडी संख्या में महिलाओं की मृत्यु प्रसव के समय हो जाती है। अतः उन महिलाओं और उनके शिशुओं की स्वास्थ्य संबंधी और आर्थिक सहायता के लिए जनानी सुरक्षा योजना लाई गई है।

Read In English: Click here

Follow Us On Social Media 🙏 🔔

Google News Follow
Twitter Follow
Facebook Follow
Koo AppFollow
InstagramFollow
TelegramFollow

Leave a Comment

Top 10 Hindi Black and White Movies Top 10 Bollywood Dandiya & Garba Songs Navratri Special Top 10 serials in Hindi (2022) POCO F4 5G कितना है Price, फीचर्स भी हैं जबरदस्त JioPhone Next 2022 में कितना है Price, क्या हैं फीचर्स देखें